प्रगतिशील कृषक

श्री अरविंद देवांगन पता -ग्राम- नयापारा वार्ड नं. 1,नारायणपुर जिला- नारायणपुर

नाम- श्री अरविंद देवांगन
पिता- श्री जी.डी. देवांगन
तकनीक: कम खर्च में निर्मित अंडा हेचिंग मशीन
ग्राम- नयापारा
विकासखंड - नारायणपुर
जिला - नारायणपुर
राज्य - छत्तीसगढ़
उम्र - 51 वर्ष
शिक्षा - 12 वी
रबी - चना, मटर व सब्जी
पशुधन - गाय, बैल, मुर्गी

नये अन्वेष का विवरण: नारायणपुर निवासी श्री अरविंद देवांगन ने विगत 3 महीने के प्रयास से कम खर्च में अंडा हेचिंग मषीन का निर्माण किया है।

श्री देवांगन समय- समय पर कृषि विज्ञान केन्द्र प्रक्षेत्र का भ्रमण करते रहते है एवं कृषि विज्ञान केन्द्र में कड़कनाथ प्रजनन इकाई को देखकर स्वयं भी कड़कनाथ उत्पादन हेतु प्रेरित हुए एवं कृषि विज्ञान केन्द्र से चूजे लेकर अपने घर में कड़कनाथ प्रजनन इकाई प्रारंभ किया परंतु अंडे की हेचिंग की सुविधा न होने पर बिना विचलित हुए कृषि विज्ञान केन्द्र के हेचिंग मषीन को देख समझकर स्वयं ही घर में उपलब्ध वस्तुओं से हेचिंग मषीन का निर्माण कर दिया जिसकी लागत 4000 रू. व क्षमता 60 अंडों की है एवं इस मषीन से 80ः अंडों से चूजे निकल रहे है।

अभी छोटे रूप में इस मषीन का निर्माण किया है भविष्य में वृह्द रूप से मषीन का निर्माण करने हेतु प्रयत्नषील है। इस प्रकार श्री देवांगन ने इस कथन को चरितार्थ कर दिखाया कि ‘‘ आवष्यकता ही अविष्कार की जननी है ’’।



श्री मंगल राम कचलाम पता -ग्राम- बेनूर, जिला- नारायणपुर

नाम- श्री मंगल राम कचलाम
पिता- श्री पंडरू कचलाम
तकनीक: पैडी ट्रांसप्लांटर से धान की रोपाई
ग्राम- बेनूर
विकासखंड - नारायणपुर
जिला - नारायणपुर
राज्य - छत्तीसगढ़
उम्र - 55 वर्ष
शिक्षा - दसवीं
कृषि भूमि - 25 एकड़, ़
रबी - चना, सब्जीयाॅ
पुशधन - गाय, बैल, मुर्गीयाॅ

नये अन्वेष का विवरण: ग्राम -बेनूर, जिला- नारायणपुर निवासी श्री मंगल राम कचलाम पैडी ट्रांसप्लांटर से धान की रोपाई करने केे कारण आज नारायणपुर के प्रगतिषील कृषकों में से एक है। धान की रोपाई के समय मजदूरों की कमी एवं अधिक व्यय के कारण समय पर धान की रोपाई नहीं कर पाते थे जिससे उनको उत्पादन कम प्राप्त होता था, श्री कचलाम नियमित रूप से कृषि विज्ञान केन्द्र का भ्रमण करते है तथा कृषि विज्ञान केन्द्र द्वारा पैडी ट्रांसप्लांटर के लाभ को जानकर स्वयं क्रय करने हेतु प्रेरित हुए एवं कृषि विभाग द्वारा अनुदान के माध्यम से पैडी ट्रांसप्लांटर क्रय किया।

स्वयं के 25 एकड़ भूमि में धान की रोपाई करने के पष्चात अन्य किसानों के खेतों में भी किराये से पैडी ट्रांसप्लांटर के द्वारा धान की रोपाई करते है। अपनी मेहनत के कारण श्री कचलाम नारायणपुर जिले के साथ ही कोण्डागांव जिले में भी प्रसिद्ध है एवं वहां भी पैडी ट्रांसप्लांटर के द्वारा धान की रोपाई करते है। आज के समय में जहां कृषि लागत अत्यधिक बढ़ गयी है ऐसे समय में कृषि यांत्रिकीकरण द्वारा कृषि लागत कम करने की श्री कचलाम की पहल अनुकरणीय है।